#एक अच्छा blog content maker कैसे बने? (हिंदी ब्लॉग्गिंग टिप्स)#



नमस्कार दोस्तों।

आज मैं आपको हिंदी ब्लॉग्गिंग tips पर बताने जा रहा हूँ की एक अच्छा content मेकर कैसे बने।
ब्लॉग बनाना बहुत आसान काम है, लेकिन उस ब्लॉग पर अच्छे content लिखना बहुत बड़ी बात है।और मुश्किल भी है।खासकर नए ब्लॉगर के लिए।
एक अच्छा content लिखना एक ब्लॉग की जान होती है।अगर किसी की content बहुत अच्छे है तो ब्लॉग्गिंग में आप बहुत लंबे समय तक बने रह सकते है और अपना कॅरियर खुद चुन सकते है।

Best content maker बनने के लिए 8 हिंदी टिप्स :-


#1.content मेकर बने,ना कि content writer:

         ये वाक्य देखने में बड़ा अटपटा लगता है, लेकिन ये सही है।अगर आप एक अच्छा blogger बनना चाहते हो तो आपको एक अच्छा कंटेंट maker बनना पड़ेगा ।
मतलब की आप जिस topic पे लिखना चाहते है, उस topic पे आपको content बनाना है, खुद अपनी सोच से।
उसके लिए आपको जानकारी जुटानी पड़ेगी,टाइम भी लगेगा,और आपको अपने दिमाग पे भी जोर देना पड़ेगा।
अगर अपने उस टॉपिक पे कंटेंट बना लिया तो लिखना तो बहुत आसान है।
यही फर्क होता है एक अच्छे content बनाने में और लिखने में।

उदाहरण के तौर पे अगर अपने खाना बनाना सिख लिया है, तो परोसना बहुत आसान काम है।और इसी तरह ब्लॉग्गिंग के लिए आपको कंटेंट maker बनना पड़ेगा,content writer नहीं।
Content लिखना तो बहुत आसान है, कही से देखा ,और लिखा ,लेकिन ये सही नहीं है।
आपको अपने ब्लॉग के लिए कंटेंट बनाना आना जरूरी है।


#2.content रीडर के लिए बनाये,ना की google के लिए:-

                            जब मेने ब्लॉग शुरू किया था तब मैं भी यही content लिखते समय यही सोचता था की यार मेरा ये कंटेंट google को कैसा लगेगा,सर्च होगा की नहीं।मैं गलत था।
हमें अपना कंटेंट अपने विजिटर के लिए बनना चाहिए। और उनकी सोच को समझना चाहिए और उनकी पसंद की जानकारी देनी चाहिए।
इसका बड़ा फायदा ये है कि हमारा content हमारे रीडर्स को पसंद आएगा ।तो google को अपने आप पसंद आ जायेगा।

#3. Content बनाना mission बनाये,ना की reason-

                       Content बनाने के लिए एक mission पे काम करना जरूरी है, उसको किसी reason से नहीं जोड़े।
एक अच्छा आधार लेकर अपना कंटेंट बनाये ,ना की किसी blog, वेबसाइट और किसी अन्य चीज़ के reason को लेकर।
अगर एक mission बनाये की मुझे एक अच्छा टॉपिक पे लिखना और पूरा करना है तो कामयाबी जरूर मिलेगी।

#4.बदलते समय की deemand को समझना और उसी अनुसार कंटेंट लिखना:-

               ये बहुत सही बात है की ब्लॉगर को अपना टॉपिक का content समय की मांग के अनुसार बनाना चाहिए। अगर वाही घिसी पिटी बातें लिखेंगे,जो हर कोई जनता है, पढ़ चूका और लिख चूका है तो उस ब्लॉग को कोई पसंद नहीं करेगा।
अगर सफल ब्लॉगर बनाना है तो समय की मांग के अनुसार ही कंटेंट बनाये ,नयी नयी चीज़ों पे लिखो,और अपनी स्टाइल में लिखो।

#5.copy, paste से परहेज़:-

                   नए blogger के लिए ये सबसे बड़ी समस्या होती है।वो सोचते है की हम किस टॉपिक पे लिखे,और कुछ ढंग से नहीं सोच पाते है और अंत में copy paste data अपने ब्लॉग में डाल देते है जो की google को अछि तरह पकड़ना आता है।और ब्लॉग सर्च से भी बहार हो जातें है।
तो कभी भी अपने ब्लॉग पे कॉपी पेस्ट डेटा नहीं डालें।

#6.अपने मनपसंद topic पे लिखना:-

           कोई भी चीज़ लेलो,जो अपनी पसंद की होती है उसमे काम करने का एक अलग की मज़ा आता है।और काम भी मन लगाकर करते है और बोर भी नहीं होते है।
ब्लॉग्गिंग में भी ऐसा ही है। उसमे टॉपिक ऐसा चुने जो आपकी पसंद का हो,आपकी जिसमे रूचि हो और आपकी सोच के साथ चले।तो लिखने का अंदाज़ ही बदल जायेगा।

#7.अपने topic पे research करना:-

        अगर कोई अपने blog को बेहतर बनाना चाहता है तो उसे अपने topic पे research करना पड़ेगा।
ब्लॉगर को उस टॉपिक पे अधिक से अधिक जानकारी जुटानी पड़ेगी ,लेख पढ़ने पड़ेंगे और और समय भी देना पड़ेगा,तब जाकर एक अच्छा content of टॉपिक बन पाता है।
अगर अधूरी जानकारी लिखेंगे तो वो अधूरे मन से ही लिखा जायेगा और उसका परिणाम भी अधूरा ही आएगा।

#8.content लिखने की कला:-

                Content लिखने की कला एक average कंटेंट को भी अच्छा बना देती है।हर किसी की भी अपनी लिखने की एक कला होती है और वो उसी अनुसार लिखता है।
मेरा मानना है की अपनी स्टाइल से ही लिखे,किसी की कॉपी ना करे।कॉपी करने के चकर में ,अपनी स्टाइल भी ख़राब हो जायेगी।
बस धीरे धीरे उसमे थोडा सुधार करना जरुरी है।

👉It’s your turn➡


  आपको हमारी ये पोस्ट कैसी लगी ,हमें comment के द्वारा बताये। और अपने फ्रेंड्स के साथ share भी करे

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here